DONATION
श्री क्षेत्र बजाजा कमेटी द्वारा सभी सेवा प्रकल्प जन सहयोग से संचालित किये जाते हैं | जन हित में आपके हर प्रकार के आर्थिक एवं सुझाव का कमेटी सदैव स्वागत व् सम्मान करती हैं |
इसके हेतु कमेटी के अध्यक्ष / महामंत्री / कोषाध्यक्ष अथवा हेल्पलाइन नंबर 9319809451 पर संपर्क किया जा सकता हैं |
कमेटी को दिए गए आर्थिक सहयोग पर भारत सरकार द्वारा आयकर अधिनियम 80 G के अंतर्गत छूट प्रदत हैं |

Image alt

१.डायलिसिस सेवा :

कमेटी द्वारा संचालित डायलिसिस सेवा के अंतर्गत डॉ. एम. एल. पटनी मेमोरियल डायलिसिस सेंटर का संचालन वर्ष 2008 से खंदारी आगरा पर संचालित किया जा रहा है। वर्तमान में 10 मशीनों के साथ शत प्रतिशत क्षमता से कार्य करते हुए डायलिसिस चिकित्सा के क्षेत्र में इस सेंटर ने प्रदेश में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है। किडनी में मरीजों को नियमित अंतराल पर डायलिसिस करनी होती है, जिसमे अत्यधिक खर्च आता है। समिति अत्यन्त सीमित शुल्क में यह सेवा देकर मरीजों के लिए एक अतुलनीय कार्य कर रही है।

हमारा पता है :
डॉ. एम. एल. पटनी मेमोरियल डायलिसिस सेंटर
1 - बी , लाजपत कुञ्ज ,
खंदारी , आगरा
संपर्क : 9412010112

Image alt

२.नेत्र चिकित्सालय :

श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी द्वारा आगरा के सबसे प्राचीन प्रतिष्ठित नेत्र चिकित्सालय आगरा बुलियन चैरिटेबल आई हॉस्पिटल का सञ्चालन वर्ष 2011 से किया जा रहा है। कमेटी द्वारा भवन का पुनर्निर्माण किया गया है एवं नेत्र परिक्षण व ऑपरेशन की अत्याधुनिक मशीनों की व्यवस्था की गयी है। हॉस्पिटल में अनुभवी एवं योग्य चिकित्सक व तकनीकी स्टाफ की देखरेख में आँखों से सम्बंधित जांच एवं ऑपरेशन की सुविधा से प्रतिवर्ष हज़ारों मरीज लाभान्वित हो रहे है।

हमारा पता है।
आगरा बुलियन आई हॉस्पिटल
मोतीलाल नेहरू रोड , आगरा
संपर्क रू 93599 05097

Image alt

३.दाह संस्कार सामग्री व्यवस्था :

कमेटी प्रत्येक समाज की रीति रिवाज के अनुसार मृतक की अंतिम यात्रा के लिए आवश्यक सामग्री बांस फूस कपडा घी राल कपूर गुलाबजल चूदरी सुहाग का सामान दाह संस्कार करने वाले व्यक्ति के जूते बनियान अंगोछा आदि सैकड़ों वस्तुएं न्यूनतम मूल्य पर उपलब्ध कराती है। यह व्यवस्था कमेटी के कार्यालय खालसा गली व एम जी रोड से संचालित होती है। कमेटी गरीबों को यह सामग्री निः शुल्क उपलब्ध कराती है कमेटी उठावनी हेतु निः शुल्क फर्श भी उपलब्ध कराती है।

Image alt

४.वातानुकूलित शव शैय्या ( ए. सी. ताबूत )

मृत व्यक्तियों में निकटस्थ परिजनों के अन्यत्र होने की स्थिति में परिजनों के आने तक शव को सुरक्षित रखना एक बड़ी समस्या थी। कमेटी के सेवा प्रकल्प वातानुकूलित शव शैय्या ने नगर की इस समस्या को खत्म कर दिया। इस शव शैय्या के माध्यम से मृत शरीर को 72 घंटे बिना बर्फ के सुरक्षित रखा जा सकता है। कमेटी के पास विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा प्रदत्त कई शव शैय्या हैं जो नगर की सेवा में कार्यरत है। कमेटी इस वातानुकूलित शव शैय्या को अपने संसाधन द्वारा आवश्यक स्थल तक पहुँचाती है और अपने साधन से ही वापिस अपने कार्यालय ले आती है। इस सेवा को प्राप्त करने के लिए संपर्क करे -

➧ खालसा गली कार्यालय ➧ एम जी रोड कार्यालय

Image alt

५.मोक्ष वाहन सेवा :

पिछले दो दशक में नगर का तेजी से विस्तार हुआ है। ऐसे में शव को शमशान घाट तक ले जाने हेतु शव वाहन की आवश्यकता होती है। कमेटी के पास विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा प्रदत्त छोटे बड़े कई शव वाहन हैं जो चौबीसों घंटे सेवा के लिए उपलब्ध हैं। कमेटी के शव वाहन नगर से बाहर देश के प्रमुख नगरों तक शव को ले जाने का कार्य भी कर रहे हैं। इस हेतु कमेटी के पास AC शव वाहन भी उपलब्ध है। अपने प्रकार की यह अनूठी सेवा देश के चुनिंदा शहरों में ही देखने को मिलेगी। आगरा में श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी कुशलता पूर्वक इस सेवा का सञ्चालन कर रही है।

इस सेवा के लाभ के लिए कमेटी के कार्यालय पर संपर्क किया जा सकता है।

Image alt

६.मोक्षधाम लकड़ी व्यवस्था :

यह प्रकल्प कमेटी का अत्यन्त महत्वपूर्ण प्रकल्प है। ताजगंज मोक्षधाम पर कमेटी द्वारा न्यूनतम दरों पर शवदाह हेतु लकड़ी उपलब्ध करायी जाती है। शवदाह में प्रयोग आने वाली अन्य सामग्री लौंद राल चीनी आदि सामग्री भी यहाँ है। दाह संस्कार में प्रयोग किये जाने वाले सभी उपकरण निः शुल्क उपलब्ध कराये जाते है। घटते वनों के चलते इतनी प्रचुर मात्रा में लकड़ी की व्यवस्था मुश्किल भरा कार्य हैए लेकिन कमेटी के प्रयासों से यहाँ सदैव भंडार भरा रहता है।

Image alt

७.विध्युत शवदाह गृह (बैकुण्ठ धाम) :

वर्ष 1997 में आगरा सहित प्रदेश के 12 शहरों में विधुत शवदाह गृह बनाए गए थे। प्रशासन के आग्रह पर आगरा का विद्युत शवदाहगृह सञ्चालन हेतु श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी को हस्तांतरित किया गया। कमेटी के प्रयासों के परिणामस्वरूप ही आज आगरा में प्रदेश का एकमात्र चालू विद्युत शवदाहगृह है। इस प्रक्रिया द्वारा दाह संस्कार में पांच लकड़ी घी चन्दन धुप कपूर आदि सभी सामग्री प्रयोग में लाई जा सकती है। इसमें कपाल क्रिया व अस्थिफूल एकत्रित करने की उचित व्यवस्था है। इसमें सभी धार्मिक व वैदिक रीतियों का पालन होता है। समय की बचत भी होती है। इसका प्रयोग बढ़ने से प्रति दाह संस्कार पांच कुंतल लकड़ी अर्थात पांच जीवित वृक्षों को बचाया जा सकता है। कमेटी के प्रयासों से विद्युत शवदाहगृह का प्रयोग धीरे धीरे निरंतर बढ़ रहा है। विद्युत शवदाहगृह को बैकुण्ठधाम नाम दिया गया। आपसे भी बैकुण्ठधाम प्रयोग करने का आग्रह है। कमेटी ने वर्ष 2012 को विध्युत शवदाहगृह जागरूकता वर्ष के रूप में मनाया था। कमेटी के प्रयासों के सुखद परिणाम भी मिल रहे है और विद्युत शवदाहगृह की जनस्वीकार्यता तेजी से बढ़ रही है।

Image alt

८.बजाजाा पोस्टमार्टम गृह :

एस एन हॉस्पिटल आगरा स्थित बजाजाा पोस्टमार्टम गृह पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप का अनूठा उदहारण है। यहाँ श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी द्वारा नगर की जनता के सहयोग से वातानुकूलित व सुव्यवस्थित पोस्टमार्टम बनवाया गया है। पोस्टमार्टम गृह की दैनिक रखरखाव व्यवस्था भी बजाजाा कमेटी करती है। नवीन पोस्टमार्टम गृह पर मेडिकल छात्रों को शवों का पोस्टमार्टम देखने व सीखने की उच्च स्तरीय व्यवस्था है। अपने परिजन के पोस्टमार्टम का दर्द झेल रहे व्यक्ति को यहाँ कोई परेशानी न हो यही कमेटी का ध्येय है। कमेटी द्वारा यहाँ शवों का सुरक्षित रखने के लिए A.C ताबूत भी उपलब्ध कराये गए है। यहाँ कमेटी द्वारा कपडा व प्लास्टिक की व्यवस्था की जाती है। जो लावारिस शवों हेतु निः शुल्क उपलब्ध कराई जाती है।

Image alt

९.आकस्मिक दुर्घटना वाहन सेवा :

12 दिसंबर 2004 को श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी ने आकस्मिक दुर्घटना वाहन सेवा के रूप में नगर में एक ऐसी अद्भुत सेवा की शुरुआत की जिसने कमेटी की सेवा को नया आयाम दिया। इससे पूर्व सड़क दुर्घटनाओं में घायलों को तत्काल चिकित्सा न मिलने के कारण असमय मृत्यु का ग्राफ बढ़ा था। इस सेवा के जरिये केवल फ़ोन कॉल पर कमेटी का सेवा वाहन दुर्घटना स्थल पर पहुँच कर घायलों को इमरजेंसी या नजदीकी नर्सिंग होम तक पहुंचाता है। विगत वर्षों में हज़ारों की संख्या में घायलों को इस सेवा के माध्यम से असमय मृत्यु से बचाया जा सका है। प्रशासन की ओर से एक लिखित प्रपत्र भी कमेटी को सौंपा गया है कि दुर्घटना में घायलों की सहायता करने वाले किसी भी नागरिक को पुलिस गवाही आदि में परेशान नहीं किया जायेगा बल्कि शासन की ओर से ऐसे नागरिकों को पुरस्कृत किया जायेगा। इस वाहन पर पुलिस व वायरलेस की भी व्यवस्था है। यह कमेटी के प्रयासों का ही परिणाम है की अब नागरिक भी बेहिचक घायलों को स्वयं नजदीकी चिकित्सा स्थल पर पहुंचाते है और सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु का ग्राफ भी घटा है। इस सेवा में नगर के प्रशासन , सरकारी चिकित्सा संस्थान व विभिन्न नर्सिंग होम भी अपना सहयोग देते हैं।
आकस्मिक दुर्घटना वाहन फ़ोन : 93595 55111 / 100

Image alt

१०.भोजन सेवा :

श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी की स्थापना 125 वर्ष पूर्व दीन हीन व असहाय लोगों को भोजन कराने से हुई थी। अपने आरम्भ से आजतक भोजन का यह क्रम एक भी दिन के लिए नहीं टूटा है। यह अपने आप में एक कीर्तिमान है। कमेटी द्वारा जनता के सहयोग से अपने कार्यालय खालसा गली व एम. जी. रोड पर प्रतिदिन प्रातः 10 बजे तक आने प्रत्येक अतिथि को ससम्मान नि: शुल्क ताजा सात्विक भोजन कराया जाता है।
नोट : इस प्रकल्प में भोजन सेवा कर पुण्य के भागी बनने के लिए कमेटी के कार्यालय पर संपर्क किया जा सकता है।

Image alt

११.औषधालय प्रकल्प :

स्वास्थ्य मानव जीवन की सर्वश्रेष्ठ पूँजी है। इस सार्थक वाक्य को मन में धारण किये कमेटी ने शास्त्रीय आधार पर कुशल आयुर्वेदिक चिकित्सकों की देखरेख में आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से निर्मित औषधियों द्वारा रोगियों के इलाज की सुविधा खालसा गली स्थित कार्यालय के साथ साथ एम जी रोड स्थित अपने पर भी कर रखी है। यहाँ 200 - 250 मरीज रोज दवा लेने आते है। पुराने जटिल रोगी भी यहाँ काफी संख्या में स्वास्थ्य लाभ पाते है।

Image alt

१२.बर्तन व्यस्था :

नगर की जनता को शादी एवं विभिन्न उत्सवों पर होने वाले कार्यक्रमों के लिए बर्तनों की आवश्यकता होती है। इस भीषण मंहगाई के युग में आम जनता को राहत देने के लिए कमेटी ने बर्तनों को निः शुल्क देने की प्रचुर व्यवस्था कर रखी है। एक ही दिन में 75 शादियों एवं उत्सवों के लिए बर्तन उपलब्ध कराने में कमेटी सक्षम है। 20 - 25 हज़ार व्यक्तियों के कार्यक्रम के लिए एक ही स्थान पर इस प्रकार की बर्तन व्यवस्था कमेटी के पास उपलब्ध है। कमेटी ने यह व्यवस्था अपने दोनों कार्यालय खालसा गली व ऍम जी रोड पर कर रखी है। जनता की आवश्यकता के अनुसार नए नए बर्तनों का भण्डारण कमेटी तत्परता से करती है।
इस सेवा के उपयोग के लिए कमेटी के किसी भी कार्यालय पर संपर्क किया जा सकता है।

Image alt

१३.मरीजों के लिए आवश्यक सुविधाएँ :

यह सेवा पिछले कुछ समय में कमेटी की एक महत्वपूर्ण सेवा बनके उभरी है। कई रोगों में हॉस्पिटल से घर आने के बाद भी मरीजों को कुछ साधनों की बेहद आवश्यकता पड़ती है। इस निमित्त कमेटी निम्न साधन उपलब्ध कराती है


१ व्हील चेयर
२ मरीजों वाला पलंग
३ ऑक्सीजन गैस सिलेंडर व सेक्शन मशीन
४ वॉकर
५ पानी व हवा के गद्दे


कमेटी के इस सेवा प्रकल्प के माध्यम से बड़ी संख्या में गम्भीर मरीज लाभ उठाते हैं और अतिरिक्त आर्थिक बोझ से बच जाते है।
इस सेवा का लाभ उठाने के लिए कमेटी के दोनों कार्यालयों पर संपर्क किया जा सकता हैं |

Image alt

१४.नेत्रदान महादान अभियान :

आपके द्वारा किया गया नेत्रदान दो अन्य व्यक्तियों की अँधेरी दुनिया को रोशन करता है। कमेटी के प्रयासों से नगर में नेत्रदान को लेकर काफी जागरूकता आयी है। श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी ने " आगरा विकास मंच व् S .N मेडिकल कॉलेज के नेत्र विभाग के साथ मिलकर नेत्रदान महादान अभियान चला रखा है। इस अभियान अंतर्गत बड़ी संख्या में नेत्रदान हो रहा है।

मरणोपरांत नेत्रदान हेतु परिजन कमेटी से संपर्क कर सकते हैं।

Image alt

१५.अज्ञात व असहाय मृतकों का अंतिम संस्कार :

कमेटी द्वारा अज्ञात मृतकों को पोस्टमार्टम गृह से शमशान घाट तक अपने साधनों से ले जाया जाता है। जहाँ इनका दाह संस्कार निः शुल्क किया जाता है। कमेटी इनका दाह संस्कार कर अस्थि फूल सुरक्षित रखने की व्यवस्था करती है। जिनको आवश्यकता पड़ने पर उपलब्ध करा दिया जाता है। यह फूल स्टील अलमारी में थाने का नाम ए दिनांक व नंबर के हिसाब से रखे गए हैं। फरवरी 99 में कमेटी ने 502 असहाय व अज्ञात मृतकों के अस्थि फूलों के सम्मुख श्री मद् भागवत एवं सर्वधर्म प्रार्थना कार्यक्रम कराकर विधि विधान पूर्वक बड़ी श्रद्धा के साथ सोरों स्थित गंगा में विसर्जित किया था। फरवरी 2004 में गंगाजी में पूर्ण राजकीय सम्मान से इन अस्थिफूलों को विसर्जित किया गया था। वर्ष 2006 में कमेटी ने बृज चौरासी कोस परिक्रमा कराकर 850 अस्थिफूलों को वृंदावन के केसी घाट पर विसर्जित किया था। वर्ष 2010 में 1500 अस्थिफूलों का विधिविधान से सोरों में विसर्जन किया गया।
गत वर्ष 2016 में 1500 अर्थी कलशो का विसर्जन सरो हाड़गंगा पर किया गया |

Image alt

16.अलाव व्यवस्था :

कपकपाती ठण्ड में नगर में लगभग 70 - 80 स्थानों पर अलाव जलाने की व्यवस्था कमेटी द्वारा कराई जाती है। श्री क्षेत्र बजाजाा कमेटी अलाव व्यवस्था में नगर निगम आगरा को पूर्ण सहयोग प्रदान करती है। कमेटी के सहयोग से यह व्यवस्था पूरी सर्दियों भर सुचारू संचालित रहती है।

Image alt

१७.मोक्षधाम सौंदर्यीकरण :

कमेटी द्वारा शासन प्रशासन, सामाजिक - धार्मिक महिला संगठनों - , एवं जन सहयोग से मोक्षधाम एवं विधुत शवदाग्रह के सौन्द्रीयकरण , पर्यावरण संरक्षण , एवं जन जाग्रति के लिए निरंतर प्रयास किये जाते हैं | सही मांयनों बजाजा कमेटी के प्रयासों से यहाँ स्थान अपने नाम मोक्षधाम के अनुरूप दर्शनीय स्थल बन चुका हैं |